Th08/जादू जोड़ी का अतिरिक्त मोड़

From Touhou Patch Center
Jump to: navigation, search
This page is a translated version of a page Th08/Magic Team's Extra and the translation is 100% complete.

Other languages:Bulgarian 100% • ‎German 100% • ‎Deutsch (meta) 100% • ‎English 100% • ‎British English 23% • ‎Google Translate English 100% • ‎Spanish 100% • ‎French 100% • ‎Hindi 100% • ‎Hungarian 100% • ‎Indonesian 100% • ‎Italian 100% • ‎Japanese 100% • ‎Korean 100% • ‎Polish 7% • ‎Brazilian Portuguese 100% • ‎Russian 100% • ‎Swedish 100% • ‎Thai 100% • ‎Vietnamese 100% • ‎Simplified Chinese 99%

मई २२, २०१६ को ख़त्म हुआ।

अतिरिक्त

Gnome-colors-gtk-edit.svg msg8b.dat.jdiff



Keine Kamishirasawa enters

Keine

#2@60मैं तुम्हारा इंतज़ार कर रही थी।

Keine

#2@140तुम्हारे हिम्मत को मानना पड़ेगा, जो पूर्णिमा की रात मुझे चुनौती देने आए हो।

Marisa

#2@230वैसे, ई अग्नि परीक्षा ही है।

Keine

#2@320मैं तुम्हें उस इंसान को हाथ लगाने भी नहीं दूँगी!

Keine Kamishirasawa defeated

Marisa

#0@60जब कुछ न हो रहा हो, तो डर लगता है। ई अजीब भी है।

???

#0@61असली आतंक वही होता है जिसे तुम भाँप नहीं सकते।

???

#0@62एक सुनसान और खामोश भूत बंगले से ज़्यादा डरावना और कुछ नहीं।

Fujiwara no Mokou enters

???

#0@123एस अँधेरी रात में रात गौरैये भी शोर नहीं कर रहे। ये सोचना मुश्किल है कि यहाँ इंसान भटक रहे होंगे।

Marisa

#0@124तुम कौन हो?

Alice

#0@125मारिसा, यह लड़की....

मोको

Mokou

#0@126मैं एक इंसान हूँ जो यहाँ एक लंबे समय से है। घबराओ मत। मैं तुम्हें खा नहीं जाऊँगी।

Marisa

#0@127इंसान? इंसान जइसे तो नहीं दिख रही।

Alice

#0@128मारिसा, वह इंसान जैसी ही दिख रही है। पर सावधान रहो।

Mokou

#0@129तो तुम इतनी रात को क्या कर रहे हो?

Marisa

#0@130बाँस के पौधे काट रहे हैं।

Alice

#0@131अग्नि परीक्षा लेने आए हैं।

Mokou

#0@132कौन सा?

Marisa

#0@133तुमको समझना चाहिए....

Mokou

#0@134पूर्णिमा की रात, एक इंसान और एक योकाई अग्नि परीक्षा पर निकले हैं।

Mokou

#0@135क्या उस इंसान में हिम्मत है, या वो मूर्ख है?

Mokou

#0@136ज़रूर उस इंसान का शरीर बहुत सख़्त और चबाने ने मुश्किल होगा।

Marisa

#0@137क्या तुम सच्ची इंसान हो?

Marisa

#0@138हमने ऐसे इंसानों को नहीं देखा जो आदमखोरी के इतने शौकीन हैं। जिंदा तो नहीं।

Alice

#0@139क्या वह तुम्हें ज़िंदा दिख रही है, मारिसा?

Alice

#0@140मुझे मुर्दा दिख रही है। या शायद वह सिर्फ़ दिखने में ऐसी है।

Mokou

#0@141अरे, इंसानों के साथ प्रेतों जैसा बर्ताव मत करो।

Mokou

#0@142लेकिन तुम लगभग सही थी। तुम माया से धोखा नहीं खाती हो।

Marisa

#0@143तो तुम एक आदमखोर हो का?

Mokou

#0@144दरअसल....

Mokou

#0@145मैं मर नहीं सकती।

Mokou

#0@146मौत से वंचित होने का मतलब है ज़िंदगी से वनचिर होना।

Mokou

#0@147ज़िंदगी और मौत के परेशानी के बिना, मैं लगभग एक शुद्ध इंसान हूँ।

Mokou

#0@148तो शायद तुम कह सकती हो कि मैं एक प्रेत हूँ।

Alice

#0@149तो वह नहीं मरेगी! भले ही हम उसे जला या भून डालें।

Marisa

#0@150क्यों न उसको उबालकर या तलकर देखें?

Alice

#0@151अगर एक इंसान अमर बन सकता है....

Alice

#0@152वह मशहूर दवा वाक़ई असली है। वह कहानी झूठी नहीं थी।

Marisa

#0@153तुम क्या बात कर रही हो?

Marisa

#0@154ऐसा कौन होगा जो सच्चा कहानी बताकर उसे झूठा कहेगा?

Mokou

#0@155दवा? तुम्हारा मतलब है होराई अमृत?

Mokou

#0@156मैं उस पुरानी दवा को सालों पहले ही इस्तेमाल कर ख़त्म कर चुकी हूँ।

Mokou

#0@157हाँ मैंने उसे चुराया था और उसके असर से अमर हो गई हूँ।

Mokou

#0@158कागुया मुझे अभी भी मारने की कोशिश करती है, पर वैसा करना नामुमकिन है।

Mokou

#0@159इस बेतुकी लड़ाई को हज़ार साल से ज़्यादा हो गए हैं।

Marisa

#0@160हम समझ गए। अच्छी तरह समझ गए।

Marisa

#0@161तुम भूत बंगले में भूत की भूमिका निभा रही हो।

Marisa

#0@162जब कागुया हमें इस अग्नि परीक्षा के बारे में कह रही थी हमें लगा था कि इसमें कुछ तो गड़बड़ है।

Marisa

#0@163ऊ सोच रही होगी कि हमने उसे हरा दिया, तो हम तुम्हें भी हरा देंगे।

Alice

#0@164ओए! सिर्फ़ मारिसा को ही इसका श्रेय क्यों मिलना चाहिए?

Alice

#0@165वैसे भी, इंसान को हराना योकाई का काम है। इसलिए सामने खड़ा इंसान मेरा शिकार है।

Mokou

#0@166क्या, कागुया हार गई? तुम दोनों के हाथों?

Mokou

#0@167हैरानी की बात है। किसने सोचा था कि एक चंद्रवासी तुम्हारे जैसे जोड़ी के हाथों पिट जाएगी।

Mokou

#0@168याद नहीं कि आख़िरी बार इतने ताक़तवर हमलावरों का सामना कब किया था।

Mokou

#0@169या शायद तुम्हारा शरीर उतना मज़बूत है?

Alice

#0@170होराई अमृत का जो हुआ उससे मैं निराश हूँ। मैं उसे हर कीमत पर पाना चाहती थी।

Marisa

#0@171हमारा शरीर बिलकुल स्वस्थ है। कोई अकड़न नहीं। इसलिए हमें कोई दवा की जरूरत नहीं।

Mokou

#0@172होराई अमृत एक शापित दवा है जो कभी इंसानों के हाथों में नहीं आना चाहिए।

Mokou

#0@173एक स्पर्श, और तुम अजर हो जाओगी। दो स्पर्श, और तुम बीमारी और रोग भूल जाओगी।

♪ चाँद के लिए हाथ बढ़ाओ, अमर धुँआ

Mokou

#0@174फिर तीसरा स्पर्श...., और तुम्हारी आत्मा हमेशा के किए तड़पती रहेगी।

Fujiwara no Mokou defeated

Mokou

#1@60बाप रे। मेरा शरीर अभी बिलकुल मज़बूत और ठोस है।

Marisa

#1@61हार मान लिया? पर लगता है तुम सच्ची मर नहीं सकती।

Alice

#1@62वह मर नहीं सकती, पर देखकर लगता है कि उसकी सहनशीलता भी ख़त्म होने वाली है।

Mokou

#1@63मैं अपनी सीमा पर हूँ। मुझे आराम कर लेना चाहिए नहीं तो अकड़न से मैं कल हिल भी नहीं पाऊँगी।

Alice

#1@64बस अकड़न?

Marisa

#1@65हम ई सोचा करते थे, अगर एक अमर को बीच से काट दें, तो कौन सा हिस्सा उसका होगा?

Alice

#1@66तुम वह क्यों सोचा करती थी?

Alice

#1@67अमरता का मतलब है अपने वास्तविक शरीर से अलग हो जाना।

Alice

#1@68तुम्हारी पहचान तुम्हारी आत्मा है, और वह अपने लिए एक नया शरीर बना सकती है।

Alice

#1@69आत्माओं का आकार नहीं होता, इसलिए वे कहीं भी शरीर की रचना कर सकते हैं।

Alice

#1@70उसके उलट, आत्मा के बिना एक शरीर बहुत जल्दी मिट जाएगा, है न?

Mokou

#1@71वाह, तुम तो बहुत कुछ जानती हो।

Mokou

#1@72तुम्हें सचमुच होराई अमृत चाहिए था न? क्या तुम भी अमर बनना चाहती थी?

Alice

#1@73नहीं। मुझे बस आत्माओं में दिलचस्पी है। मुझे लगा था मैं उससे स्वतंत्र गुड़िए बना पाऊँगी।

Alice

#1@74वैसे भी, वह अमृत योकाइयों पर काम नहीं करता, है न?

Marisa

#1@75हमारा एक और सवाल है।

Marisa

#1@76अगर आत्माओं का कोई आकार नहीं होता, तो योमु के पास ऊ बड़ी सी चीज क्या है?

Alice

#1@77वह एक प्रेत है न? बिलकुल अलग है। उसे भूल जाओ।

Mokou

#1@78जैसे मैं अमर हूँ, वैसे ही प्रेत निर्जीव है।

Mokou

#1@79शायद हमारा फ़र्क शसिर्फ़ हमारे शरीर का है।

Marisa

#1@80अच्छा, अब समझे। तो? हमारी अग्नि परीक्षा कैसी थी?

Mokou

#1@81तुम्हारे शरीर का क्या कहूँ.... तुम्हारा जिगर बर्बाद हो चुका है।

Marisa

#1@82अरे नहीं, हम उतना शराब पी रहे हैं का?

Alice

#1@83मारिसा, अपने आँतों की इलाज के लिए किसी और का खाना चाहिए। और एक अमर की आँतें....

Marisa

#1@84हम किसी इंसान की आँतें खाने बारे में सोच भी नहीं सकते, अमर हो या नहीं।

Mokou

#1@85एक अमर का शरीर बिमारियों से मुक्त है, इसलिए मेरी आँतें बिलकुल साफ़ है।

Mokou

#1@86पर उन्हें खाओ मत।

Marisa

#1@87हम नहीं खाएँगे.... पर अमरता सच्ची आकर्षक है।